Business Idea: लाल भिंडी करेगी आपका लाखों का मुनाफा,करें इसका बिजनस लागत कम और तरक्की ज्यादा पढ़िए पूरी खबर

लाल भिंडी बिजनस आइडिया,कैसे किया जाए ,खासियत और फायदा,लागत और मुनाफा (Red Ladyfinger Business Idea Hindi,Cost,Price,Benifits and Profit)

Business Idea: लाल भिंडी आजकल किसानों के लिए चर्चाओं में बना हुआ है इसकी चर्चा में बने रहने का मुख्य कारण लाल भिंडी की खासियत है यह साधारण हरी भिंडी के मुकाबले कई गुना ज्यादा फायदेमंद और मुनाफा देने वाली खेती है साथ ही बिजनेस है |

देश के जाने माने  राज्यों जैसे दिल्ली,उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, हरियाणा और गुजरात मे इस खेती या बिजनस के लिए केंद्र बना हुआ है |

हमारे देश में अब पहले के मुकाबले आज खेती करने के तरीके और फसलों में काफी परिवर्तन देखने मिल रहा है पारंपरिक खेती में गेहूं ,चावल ,दाल, गन्ना इत्यादि फसलें उगाई जाती थी लेकिन अब हमारा देश भी आधुनिक खेती और मुनाफे खेती या कहें  बिजनेस की तरफ बढ़ रहा है |

अगर आप गांव में रहते हैं और आपके पास अच्छी खासी जमीन है या फिर आप खेती करना चाहते हैं तो लाल भिंडी की खेती या इसका व्यापार करना कभी मुनाफेमंद साबित हो सकता है क्योंकि इसमें हरी भिंडी के मुकाबले कई गुना ज्यादा मुनाफा है |

लाल भिंडी की शुरुआत कैसे हुई

लाल भिंडी की खेती का चलन उत्तर प्रदेश के बनारस यानी कि वाराणसी से शुरू हुआ और लगभग भारत  के कई राज्यों में इसकी खेती की जाती है | 

वाराणसी के भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान ने सबसे पहले भारत में लाल भिंडी की प्रजाति की खेती करने की नींव रखी और यह लाल भिंडी भारत में इस तरह से प्रसिद्ध हुई थी कि कई सारे किसान इसकी खेती करके अच्छा मुनाफा कमाने की तरफ देख रहे हैं |

इस तरह की खेती के लिए गुजरात,मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, दिल्ली,महाराष्ट्र और हरियाणा सबसे अधिक दिलचस्पी दिखा रहे हैं |

कैसे करें लाल भिंडी की खेती

लाल भिंडी की खेती और हरे रंग की भिंडी की खेती दोनों में कोई अंतर नहीं है दोनों को उगाने का तरीका बिलकुल एक जैसा होता है बस दोनों की फायदे और कीमत में फर्क है लेकिन खेती करने के तरीके एकदम समान है |

और बात करें इसके बीजों की तो यह बीज भंडार की दुकान से आपको मिल सकते हैं अगर आपके राज्य में इसकी बीज उपलब्ध नहीं है तो आप जहां जहाँ इसकी खेती हो रही वहां से आप मंगवा सकते हैं या ऑनलाइन तरीके से भी इसके बीज को आप खरीद सकते हैं |

लाल भिंडी की खेती के लिए दोमट मिट्टी काफी अनुकूल मानी जाती है लेकिन ऐसा नहीं है की अन्य मिट्टी में इसकी खेती नहीं की जा सकती बिल्कुल आप किसी भी तरह की खेती की मिट्टी में इसको उगा सकते हैं |

इसकी खेती में किसी भी तरह की आधुनिक यंत्रों या टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल नहीं किया जाता और ना ही इसकी खेती करने में अधिक पैसों की जरूरत पड़ती है इसकी खेती कम से कम लागत में भी आसानी से की जा सकती है |

इसकी खेती के लिए फरवरी और मार्च का महीना और जून और जुलाई का महीना बेहतरीन होता है इन महीनों में आसानी से खेती करके एक अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता है |

विशेषज्ञों का  कहना है कि लाल भिंड के पौधे की खेती के लिए इसे 5 से 6 घंटे की धूप पर्याप्त रूप से मिलनी चाहिए जिससे इसका विकास काफी बेहतर तरीके से होता है और भिंडी की लंबाई अधिकतम 7 से 7.5 इंच के बीच हो सकती है |

 लाल भिंडी के बारे मे  

लाल भिंडी की प्रजाति की खोज करने के लिए भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान को काफी समय लग गया तब जाकर हमें इस लाल रंग की लाल रंग की बेहद ही फायदेमंद भिंडी की प्रजाति मिली , इसे अस्तित्व में लाने के लिए अनुसंधान संस्थान को 8 से 10 साल का समय लगा |

लाल बिंदी को काशी लालिमा के नाम से भी जाना जाता है और इसके एक पौधे से लगभग 40-50  भिंडी प्राप्त हो सकती है |

लाल भिंडी के फायदे 

  • फसल केवल 40 से 50 दिन के बीच तैयार हो जाती है
  • उपज  20 क्विंटल प्रति एकड़ तक हो सकती है
  • हरी भिंडी के मुकाबले कई गुना ज्यादा महंगी बिकती है 500-800 रुपये/किलो 
  • रोगप्रतिकारक क्षमता बढ़ाने और शक्ति बढ़ाने में फायदेमंद
  • अधिक फाइबर और आयरन की मात्रा बढ़ाने मे उपयोगी 
  • हृदय रोग, कोलेस्ट्रॉल और डायबिटीज़ मे उपयोगी 

मोटी कमाई वाला बिजनस  

लाल भिंडी की खेती साल मे दो बार आसानी से और सफलतापूर्वक की जा सकती है और तगड़ी कमाई भी की जा सकती है , सामान्य हरी भिंडी के मुकाबले इसकी किमत कई गुना ज्यादा है |

अगर आप इसकी खेती अच्छे से करते हैं तो लाल भिंडी की किमत 500-800 रुपये के बीच बाजार मे बेच सकते हैं और लाखों मे अपनी कमाई को कर सकते हैं |

अगर इसकी खेती के लिए अधिक जगह लेकर या लिस पर लेकर खेती की जाए तो बहुत बढ़िया मुनाफा कुछ महीनों मे ही कमाया जा सकता है |

अन्य पढ़ें:

Share

Leave a Comment